[Hindi] Manzoor Ae Khuda Song Lyrics - Thugs of Hindostan

Manzoor Ae Khuda Song Lyrics: Hello Friends. आज हम यहाँ  पे Manzoor Ae Khuda Song की Lyrics लेकर आये है | यह गाना श्रेया गोशाल, सुनिधि चौहान, सुखविंदर सिंह ने गाया  है | अजय अतुल के द्वारा यह गाना compose किया गया है और अमिताभ भट्टाचार्य ने इस गाने की Lyrics दी है |

 

Manzoor Ae Khuda Song Lyrics:

बाबा लौटा दे मोहे
गुड़िया मोरी 
अंगना का झूलना भी 
इमली की ड़ार वाली 
मुनियाँ मोरी 
चाँदी का पैंजना भी 

इक हाथ में चिंगारियां 
इक हाथ में साज़ है 
हंसाने की है आदत हमें 
हर गम पे भी नाज़ है 

आज अपने तमाशे पे 
महफ़िल को करके रहेंगे फ़िदा 
जब तलक न करें जिस्म से 
जान होगी नहीं ये जुदा 

मंज़ूर ऐ खुदा 
मंज़ूर ऐ खुदा 
अंजाम होगा हमारा जो है 
मंज़ूर ऐ खुदा 
मंज़ूर ऐ खुदा 
मंज़ूर ऐ खुदा 
मंज़ूर ऐ खुदा 
टूटे सितारों से रोशन हुआ है 
नूर ऐ खुदा 

हो... 
चार दिन की गुलामी 
जिस्म की है सलामी 
रूह तो मुद्तों से आज़ाद है 

हो... 
हम नहीं है यहाँ के 
रहने वाले जहाँ के 
वो शहर  आसमान में आबाद है 

हो खिलते ही उजाड़ना है 
मिलते ही बिछड़ना है 
अपनी तो कहानी है यह 
कागज़ के सिखारे में 
दरिया से गुज़ारना है 
ऐसी ज़िंदगानी है यह 
ज़िंदगानी का हम पे जो है 
क़र्ज़ कर के रहेंगे अदा 
जब तलक न करें 
जिस्म से जान होगी नहीं ये जुदा 

मंज़ूर ऐ खुदा... मंज़ूर ऐ खुदा 
मंज़ूर ऐ खुदा.. मंज़ूर ऐ खुदा 
अंजाम होगा हमारा जो है 
मंज़ूर ऐ खुदा 
मंज़ूर ऐ खुदा... मंज़ूर ऐ खुदा 
मंज़ूर ऐ खुदा...मंज़ूर ऐ खुदा
टूटे सितारों से रोशन हुआ है 
नूर ऐ खुदा 

बाबा लौटा दे मोहे
गुड़िया मोरी 
अंगना का झूलना भी 
इमली की ड़ार वाली 
मुनियाँ मोरी 
चाँदी का पैंजना भी

आजादी है गुनाह 
तो कबूल है सजा 
अब तो होगा वही 
जो है मंज़ूर ऐ खुदा 

Manzoor Ae Khuda Song Lyrics was given by Amitabh Bhattacharya and this music is composed by Ajay and Atul.

अगर आपको इस लिरिक्स में कोई गलती दिखी हो तो उस गलती के बारे में हमें comment sectiion में कमेंट लिख कर बताये हम जल्द से जल्द वो गलती सुधारेंगे |

No comments:

Post a Comment